मुकेश अंबानी :Mukesh Ambani in Hindi: Mukesh Ambani Biography

मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी

जन्म और बचपन :

मुकेश अंबानी का जन्म 19 अप्रैल 1957 को यमन में हुआ । फोब्स मैगजीन के अनुसार मुकेश अम्बानी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति है । वे रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष ,प्रबंध निदेशक और कंपनी के सबसे बड़े शेयर होल्डर है । उनके पास 3.84 लाख करोड़ की सम्पत्ति है । वे धीरूभाई अंबानी के बड़े पुत्र है और मुम्बई इंडियंस के मालिक भी है ।

जीवन परिचय :
जन्म : 19 अप्रैल 1957
पिता : धीरू भाई अंबानी
माता: कोकिलाबेन अंबानी
जीवन साथी : नीता अंबानी
भाई : अनिल अंबानी
बहने : नीना कोठारी और दीप्ति सळगाओकार
पुत्र: आकाश अंबानी, अनंत अंबानी
पुत्री :ईशा अंबानी
व्यवसाय : बिजनेस
उपलब्धि : दुनिया के 10 वे सबसे अमीर और भारत के सबसे अमीर व्यक्ति (इंडिया टुडे के अनुसार).

मुकेश अंबानी की  शिक्षा एवं व्यवसाय :

उनकी शिक्षा आबय मोरिस्चा स्कूल मुंबई में हुई थी । उन्होंने कैमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक DUCT से प्राप्त किया ।
उन्होंने आगे की पढ़ाई MBA स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से शुरू की अपने पिता को ही वे अपना आदर्श मानते है और  धीरू भाई अंबानी के आग्रह पर वे एक वर्ष बाद वापस भारत आ गए  । अपने पिता के काम काज  देखने लगे ।
वर्ष 1970 के दशक में धीरू भाई अंबानी 2 कमरे के घर में रहते थे । हालांकि इसके कुछ वर्षो के बाद धीरू भाई ने सी विंड के नाम से 14वे मंजिल की इमारत खरीदी ।
1889 में रिलायंस का काम संभाला सर्वप्रथम रिलायंस के टेक्सटाइल पॉलिस्टर फाइबर और पेट्रो केमिकल को नई तकनीक के माध्यम से निर्देशित किया और ऊंचाइयों के नए आयाम स्थापित किये ।रिलायंस की उत्पादन क्षमता 10 लाख टन से   बढ़ाकर प्रति वर्ष 1 करोड़ 20 लाख टन कर दिया ।
इसके पश्चात जामनगर में विश्व की सबसे बड़ी पेट्रोलियम रिफाइनरी की स्थापना की । इसकी क्षमता अब 3 करोड़ 30 लाख टन प्रति वर्ष है। यह एक लाख करोड़ रुपये की है ।
2013 में उन्होंने धीरू भाई ‘अम्बानी इंटरनेशनल स्कूल ‘की स्थापना की । आज वहां फ़िल्म जगत और बड़े उद्योगपति के बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहें है । इसे उनकी पत्नी नीता अंबानी चला रही है ।
आज जिओ( Jio) को कौन नही जानता ? कम्युनिकेशन क्षेत्र में एक क्रांतिकारी परिवर्तन देखने को मिलता है । ऐसा सिर्फ मुकेश अम्बानी ही कर सकते है । पूरे भारत को एक सूत्र में पिरोने का काम उन्होंने किया है । बहुत ही कम लागत में इंटरनेट      (Internet) और कालिंग (calling ) की सुविधा जिओ के माध्यम से ही सम्भव हो सका । इससे ही दुनिया को बहुत ही करीब से देखने का मौका  मिल सका । आज यह एक आम आदमी की जरूरत बन चुका है । ‘जिओ’ (Jio) हर महीने 1 करोड़ ग्राहक जोड़ रही है ।
वर्ष 2019 रिलांयन्स इंडस्ट्रीज लिमिटिड का   टर्नओवर 622809 करोड़ रहा । इसने मुनाफा 39588 करोड़ रहा । पिछले साल के मुकाबले लगभग 44% ज्यादा है । इसकी मार्किट कैपिटल लगभग 8 लाख करोड़ के पार है ।

जीवन- साथी का चुनाव :

मुकेश अम्बानी के विवाह को लेकर भी एक दिलचस्प वाक्या है । एक समारोह में धीरू भाईअंबानी में नीता को भरतनाट्यम करते हुए देखा था । धीरू भाई  अम्बानी ने नीता दलाल को अपने बेटे मुकेश के लिए पसंद किया । घर पहुंच कर धीरू भाई अम्बानी ने नीता दलाल के घर फ़ोन लगाया फ़ोन इक्तिफाक से नीता ने ही उठाया उस समय धीरू भाई अम्बानी बहुत ही प्रतिष्ठित उद्योग पति के रूप में जाने जाते थे ।उन्होंने नीता अंबानी से कहा मैं धीरू भाई अम्बानी बोल रहा हूँ । नीता ने समझा कोई उनसे मजाक कर रहा है । उन्होंने भी उत्तर दिया कि मैं ग्रीनएलिजाबेथ  बोल रही हूं यह कह कर कॉल काट दिया । धीरू भाई ने दुबारा काल किया और बताया कि मैं वास्तव में ही धीरू भाई अंबानी ही बोल रहा हूँ और नीता को अपने ऑफिस बुलाया । अगले दिन वो धीरूभाई अम्बानी के आफिस पहुँची । तब धीरूभाई ने मुकेश अम्बानी के रिश्ते की बात की और आगे चलकर  मुकेश अंबानी और नीता दलाल का विवाह संपन्न हुआ । आगे चलकर नीता दलाल नीता अंबानी बनी ।

भाई से अलगाव :

अपने पिता की मृत्यु के बाद मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी में संपत्ति को लेकर आपस मे मतभेद हो गया । उनकी माँ की मध्यस्थता से बिजनेस और संपत्ति का बंटवारा हो गया । उसके बाद भी अपने पक्के इरादे और पॉजिटिव सोच के कारण आज मुकेश अंबानी भारत के सबसे अमीर उद्योगपति है ।

सबसे महंगा निवास स्थान :

उनका निवास स्थान मुम्बई में एंटीलिया 27 मंजिल इमारत है । यह दुनिया का सबसे महंगा मकान है ।आज इसकी कीमत लगभग 6000 करोड़ रुपये है ।यहां 600 कर्मचारी है । प्रत्येक कर्मचारियों की सैलरी 2 लाख रुपये है ।उनके पास 600 कीमती कारे है ।

उपलब्धियाँ :

NDTV  के अनुसार 2007 में मुकेश अंबानी को’ बिजनेस मैन आफ द इयर का अवार्ड’ मिला ।
यूनाइटेड स्टेटस इंडिया बिजनेस कामन (USIBC ) द्वारा वर्ष 2007 में ही ‘ग्लोबल विजन लीडरशिप का अवार्ड’ भी मिला ।

इंडिया टुडे वर्ष 2004 में पावर लिस्ट में लगातार दो बार नंबर वन पर रहे  ।

उस समय गुजरात के मुख्य मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चित्रलेखा पर्सन आफ द ईयर -2007  का पुरस्कार प्राप्त किया ।
मुकेश अम्बानी ‘बैंक ऑफ अमेरिका कारपोरेशन ‘के बोर्ड ऑफ डाइरेक्टर में शामिल है । वे इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (IIM) Bangalore के चेयरमैन भी है ।
हम कह सकते है कि कामयाबी का दूसरा नाम मुकेश अम्बानी है । जिसने सही मायने मे ‘कर लो दुनिया  मुट्ठी में ‘ के  सपनो को साकार किया ।

Related Post

धीरूभाई अंबानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *