How to prepare essay for IAS main : सिविल सर्विसेज ( मुख़्य परीक्षा ) में हिंदी निबंध की तैयारी कैसे करे :

भारत में सबसे प्रतिष्ठित मानी जाने वाली सिविल सर्विस (आई ए एस) के मुख्य परीक्षा में सामान्य अध्ययन के साथ हिंदी निबंध 250 अंको का होता है । प्री एग्जाम होने के बाद चार महीने का समय मिलता है । यदि अभ्यर्थी हिंदी निबंध की तैयारी ठीक प्रकार से करे तो इस पेपर में 160 से 200 अंक तक लाया जा सकता है । इसकी सहायता से सिविल सर्विसेज को आसानी से crack किया जा सकता है । लेकिन अक्सर देखा यह जाता है कि अधिकतर प्रत्याशी हिंदी निबंध को हल्के में लेते है । कुछ प्रतिभागी तो सीधा परीक्षा भवन में ही निबंध लिखते है । जिससे उनकी रैंक कम आती है और वे मेरिट लिस्ट में पिछड़ जाते है । आइये हिंदी निबंध में अच्छे अंक कैसे लाये इसको जाने :

निबंध की प्रकृति : निबंध की प्रकृति ही होती है – शब्दों को अपने विचारों के माध्यम से क्रमबद्ध तरीके से  बाँधना । आज के सन्दर्भ में हम निबंध को सर्जनात्मकता विधा के रूप में भी देख सकते है ।
नए पैटर्न के अनुसार ,सिविल सर्विसेज में दो निबंध आते है । इनकी सीमा रेखा लगभग 2000 या 2200 शब्दों से ज्यादा नही होना चाहिए । प्रत्येक निबंध 125 अंको का होता है । इसमें 3 घंटे का पर्याप्त समय मिलता है ।

निबंध का स्वरुप : सामाजिक,आर्थिक,राजनीति,लोकप्रशासन और समसामयिकी होता है । इसके अतिरिक्त अनेक टॉपिक पर निबंध परीक्षा में पूछे जा सकते है । इसके लिए कोई निश्चित किताब नही है । अच्छे न्यूज़ पेपर के सम्पादकीय पढ़ने से इसमें मदद मिलती है ।
विषय को समझकर उत्तर देना : जो भी टॉपिक दिया गया है, उसको ठीक प्रकार समझना अति आवश्यक है । विषय को समझने के लिए  शुरू में 20 से 25 मिनट लगाकर निबंध के प्वाइंट बना लेना बेहतर होता है । क्योकि  टॉपिक सेलेक्ट करने के बाद आप उसे दुबारा नही बदलकर सकते । कुछ अभ्यर्थियों को अपने मन पसंद का  विषय मिल जाने पर, वे अपना सारा ज्ञान उसमे उड़ेल देना चाहते है । इससे निबंध काफी विस्तृत और असंतुलित हो जाता है । पूरा निबंध संतुलित और रोचकता से पूर्ण होना चाहिए ।

Related post:

परीक्षा मे अच्छे अंक कैसे प्राप्त करे : How To Gain Good Marks In Examination Tips In Hindi

लिखने में प्रवाह : वाक्य रचना बिखरे हुए नही ,उनमे प्रवाह होना चाहिए ।वाक्यों का एक दूसरे से लिंक जरूरी है । लिखावट साफ़ सुथरी होनी चाहिए । कटिंग से पहरेज करे । हिंदी निबंध लिखते समय यदि तत्सम शब्दों का प्रयोग करेगे तो उचित होगा ।

निबंध देने का उद्देश्य UPSC द्वारा सिविल सर्विसेज में निबंध देने का मकसद यह होता है कि विशेष परिस्थितियों में अभ्यर्थी अपनी व्यवहारिकता और रचनात्मक सोच से उनका हल निकाल सके ।  हिंदी निबंध के  पिछले कुछ सालो के पेपर देखने से यह ज्ञात होता है कि निबन्ध Repeat नही होता । अतः अभ्यर्थी को अपनी सृजन और काल्पनिक क्षमता का परिचय देना होता है । सिविल सर्विसेज में आये  अनसाल्वड पेपर के निबंध का अभ्यास करने से आप के अंदर एक आत्मविश्वास विकसित होता है ।

कोटेशन होना; निबंध लिखते समय कोटेशन जैसे कविता, शायरी और किसी महापुरुष के उद्धरण से निबंध अधिक आकर्षित लगता । इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि इसकी भरमार ना हो ।

निबंध की रूपरेखा : सिविल सर्विसेज के निबंध में कई पक्ष अन्तर्निहित होते है । इनको समझ कर ही अपनी लेखनी को विस्तार देना चाहिए । कुछ निबंधों का टॉपिक जिसमे पक्ष और विपक्ष का विश्लेषण आता है । इनके दोनों पहलुओं पर विचार करना उपयुक्त होता है । इसके अतिरिक्त विवादस्पद मुद्दों में सरकार के विरोध से बचना चाहिए । जनभावना को साथ लेकर चलना चाहिए । किसी जाति विशेष धर्म जैसे मुद्दे पर संतुलित विचार देना चाहिये ।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………..

कृपया शेयर करे ,आपके मन में यदि कोई प्रश्न है तो अवश्य पूछे ।

2 comments

  1. Anshu Srivastava says:

    Bahut hi sunder subdho se varnit kiya gya ha . very nice 👍

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *