Bill Gates: Richest man of the world : बिल गेट्स – विश्व का सबसे अमीर आदमी :

कंप्यूटर की दुनिया में क्रांति लाने के कारण बिल गेट्स आज विश्व में विख्यात है । बिल गेट्स माइक्रोसाफ्ट कंपनी के कोफाउंडर है । उनका पूरा नाम विलियम हेनरी  गेट्स तृतीय है ।
इनका जन्म 28 अक्टूबर 1955 में वाशिंगटन, अमेरिका में हुआ था । बिल गेट्स के पिता का नाम विलियम एच् गेट्स था । जो एक अच्छे वकील थे । जबकि ‘मैरी मैक्सवेल फर्स्ट इंटरस्टेट बैंक सिस्टम एवम् यूनाइटेड वें’ की बोर्ड आफ डायरेक्टर में से एक थी । उनकी पारिवारिक दशा अच्छी थी ।

बचपन : बिल गेट्स के पिता उनको वकील बनाना चाहते थे । लेकिन गेट्स को  कंप्यूटर में ही अधिक रूचि थी । वही उनका passion भी था ।
उसके लिए उन्होंने अनवरत प्रयास किया । 13 साल की उम्र में बिल गेट्स का दाखिला लेक साईड स्कूल में करवा दिया गया । अपने स्कूल के एक कम्प्यूटर में उन्होंने  साफ्टवेयर प्रोग्राम बना दिया । इसके साथ ही उन्होंने पहला प्रोग्राम टिक टैक टो (tic tac toe) से खेलने का अवसर प्रदान किया ।

युवावस्था : 1975 में बिलगेट्स ने अपने मित्र पाल एलेन के साथ विश्व की सबसे बड़ी कम्पनी माइक्रोसाफ्ट की स्थापना की । बिल गेट्स ने 1989 में अपने ऑफिस में काम करने वाली मेलिंडा से मिले । मिस मेलिंडा उम्र में उनसे काफी छोटी थी । 1994 में बिल गेट्स ने उनसे विवाह कर लिया । उनके तीन बच्चे है । जेनिफर कैथसि गेटस (1996) ,  रोरी जान गेटस (1999)और फ़ोले अडले गेटस (2002)।

उपलब्धि : 17 साल की उम्र मे उन्होंने ‘ट्रॉफ ओ डेटा’ नाम का प्रोग्राम बनाया । जो इंटेल 8000 प्रोसेसर पर आधारित था । 1973 में स्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण की । SAT की परीक्षा बिल नेशनल स्कॉलरशिप में उन्हें 1600 अंको में से 1590 अंक मिले । अपने मित्र के साथ मिल कर 1975 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की शुरुआत की । उन्होंने ने  BASIC नाम के प्रोग्राम की शुरुआत की । यह माइक्रो कम्प्यूटर की प्रसिद्ध प्रोग्रामिग है । कुछ ही समय के अंतराल पर माइक्रोसाफ्ट ने एक बड़ी कम्पनी के रूप में स्थापित हो गयी । 1980 में IBM द्वारा माइक्रो साफ्ट की एक डील का ऑफर आया । माइक्रो साफ्ट ने I B M के लिए PC DOS Operating System बनाया ।जिसके बदले में I B M ने एक समय की फीस 50,000 डॉलर दी । इसके बाद माइक्रोसाफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम पूरी दुनिया में famous हो गया । उनके अनुसार ‘मै परीक्षा में कुछ विषयो में फेल हो गया और मेरे दोस्त पास हो गए ।अब वे माइक्रोसाफ्ट्वेयर इंजीनियर है और मै माइक्रोसाफ्टवेयर का मालिक हूँ ।’

20 नवंबर 1985 को उनकी कंपनी माइक्रोसाफ्ट ने WINDOW नाम के ऑपरेटिंग  सिस्टम को दुनिया के सामने रखा । इस system ने पर्सनल कंप्यूटर मार्किट में पूरी तरह से अपना कब्जा कर लिया । इसका 90% शेयर WINDOW के नाम से है । उन्होने स्मार्ट वर्क पर जोर दिया । साथ ही  बिज़नेस में आगे बढ़ने के लिए हमे गूगल बिंग जैसे ब्रांड से प्रेरणा लेनी चाहिए ।

1987 में पहली बार इनको दुनिया के सबसे अमीर आदमी बनने का गौरव प्राप्त हुआ । मात्र 11 साल के करिअर में उन्हें ऐसी उपलब्धि मिली । सफलता के बढ़ते कदम के साथ ही 1989 में उन्होंने माइक्रो सॉफ्टऑफिस की शुरुआत हुयी । इसमें ऑफिस में काम करने के लिए बहुत सारे applications थी ।
2005 में रानी एलिजाबेथ II द्वारा गेटस को ‘नाईट कमांडर आफ दा आर्डर आफ ब्रिटिश एम्पायर’ से सम्मानित किया गया ।
किंग काउंटी के अनुसार वर्ष 2006 में उनकी जमीन और घर का सार्वजनिक मूल्यांकन $1250 लाख था और उनकी वार्षिक संपत्ति कर $ 991 हजार था ।
बिलगेट्स फोब्स मैगजीन 400 की सूची में 1993 से 2007 तक विश्व के सबसे अमीर लोगो की श्रेणी में नंबर वन पर रहे । 1999 में उनकी संपत्ति 101 अरब पर पहुँच गयी । उनकी एक दिन की आय 102 करोड़ है ।
सामाजिक कार्य :वर्ष 2000 में गेट्स और उनकी पत्नी ने तीन पारिवारिक संस्थाओं को संयुक्त कर बिल एवम् मेलिडा गेटस फाउंडेशन के नाम से चैरिटेबल फाउंडेशन की स्थापना की । यह विश्व की सबसे बड़ी चैरिटेबल संस्था है । इसके अतिरिक्त उन्होंने अनेकों चैरिटेबल संस्था की शुरुआत की । अल्पसंख्यक के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की । एड्स निवारक केंद्र खोले ।
सन् 2000 में केम्ब्रिज विश्वविद्यालय में $210 मिलियन छात्रवृत्ति प्रदान की । 2006 में ‘हीरोज आफ आबौर टाइम ‘ की सूची में उनका आकलन 8 वे नंबर पर किया गया ।

वर्ष 2006 में गेट्स और उनकी पत्नी को पूरी दुनिया में स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में मैक्सिको विशेष रूप से अन पाइस दा लेक्टोरेस कार्यक्रम के लिये Order of the Aztee Eagle के पदक से सम्मानित किया गया ।
रचनाये : बिल गेटस ने दो पुस्तकों की रचना की -1.The Road Ahead (1975) .2  Business @ The Speed of thought (1999).

बिल गेट्स के अनुसार, ” चाहेआप कितनी भी योग्यता रखते हो केवल एकाग्रचित होकर ही महान कार्य किये जा सकते है ।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *