Mothers day in Hindi | मदर्स डे इन हिंदी | Essay on Mothers Day


धरती पर यदि भगवान को देखना हो तो माँ के व्यक्तित्त्व को देखा जा सकता है । Mothers day  माँ के प्रति सम्मान और प्रेम का प्रतीक है। माँ  अपने बच्चों के सुख में सुखी और दुख में दुखी का अनुभव करती है । संसार का सबसे खूबसूरत माँ का रिश्ता होता है । माँ सदा से ही आदरणीय रही है।


‘Mothers day’  कब और क्यों मनाया जाता है :

‘Mothers day ‘मई के दूसरे रविवार  को मनाया जाता है । ‘मदर्स डे ‘का मुख्य उद्देश्य माँ को समर्पित है । वैसे तो हर दिन ही माँ के लिए होता है ,लेकिन ‘मदर्स डे ‘माँ के लिए विशेष होता है । सर्वप्रथम ग्रीस देश मे देवताओं की माँ को पूजने का चलन था । इसके बाद इसे त्योहार के रूप में मनाया  जाने लगा ।

इसका एक उल्लेख अमेरिका से मिलता है। अमेरिका की ऐना एम.जरविस का जन्म वर्जिनिया में हुआ था । उनकी माँ  अन्ना रीस जारविस एक चर्च में रविवार को पढ़ाती थी । उस समय महिलाओं के नाम से कोई भी त्योहार नही मनाया जाता था । अन्ना रीस जारविस अनुसार ,’ ऐसा समय आएगा जब व्यक्ति अपनी मां को एक दिन समर्पित करेगा ।’ ऐना की माँ के निधन के बाद  ऐना  ने 2 वर्ष  तक मदर्स डे के लिए  एक अभियान चलाया । मई 1914 में संयुक्त राज्य अमेरिका की संसद ने मई के दूसरे रविवार को ‘Mothers day’ की छुट्टी घोषित कर दी गयी । राष्ट्रपति  वुडो विल्सन ने राष्ट्रीय छुट्टी घोषित कर दी । अमेरिका और यूरोप के देशों में  ईसाई  धर्म के लोग  बहुत धूमधाम से ‘Mothers Day’  को मनाया जाता है ।


नेपाल में यह त्योहार जीवित और स्वर्गीय माताओं की याद और सम्मान में मनाया जाता है । इसमें जीवित माताओ को उपहार और स्वर्गीय माताओ को याद किया जाता है । नेपाल में एक कथा प्रचलित है, श्री कृष्ण की माँ देवकी प्राकृतिक छटा देखने के लिए घर से बाहर निकल गयी थी । उन्होंने कई स्थानों में दौरा  किया ।उनको लौटने  में देर हो गयी । अतः श्री कृष्ण उनको तलाश करते कई  जगह गए । लेकिन बहुत देर तक, उनको माँ नही मिली । अंत मे जब वे माता -कुंड पहुँचे तो वहां पर उनकी माता नहा रही थी । श्रीक्रष्ण अपनी माँ को वहां देखकर बहुत खुश हुए ।

इसको देखकर देवकी ने भगवान कृष्ण से कहा कि ‘यह माता कुंड बच्चो की स्वर्गीय माता से मिलने का पवित्र स्थान होना चाहिए ।’ तभी से ये स्थल तीर्थ -यात्रा स्थल बन गया है । श्रद्धालु और भक्तगण अपनी स्वर्गीय माता को श्रद्धा अर्पण करने आते है ।

थाईलैंड में मदर्स डे को ‘थाईलैंड की रानी’ के दिवस के रूप में मानते है। चीन में इस दिन ‘गुलनार का फूल ‘बहुत लोकप्रिय है । बुजुर्गो को यह फूल देकर  उनके सम्मान को व्यक्त किया जाता है ।

माँ का महत्व ; 

जीवन की जो शिक्षा माँ के द्वारा सिखायी जाती है ,वो किसी भी स्कूल या कालेज में नही दी जाती। रात को देर रात तक पढ़ाई करते समय हमारे साथ  जागना और आकर कहना  कि ‘अब सो जाओ’ यह माँ ही है । रिजल्ट  के समय पास होने  पर  हमसे ज्यादा ख़ुशी का इजहार करने वाली माँ ही होती है।  पापा के डांट से बचाने  वाली माँ ही है। देर रात तक घर न आने पर इंतजार करती माँ है। हमे परेशानी में देखकर बिना बताये ही समझ जानेवाली माँ ही तो है। जीवन की सभी परेशनियो को पलक झपकते ही हल करने वाली माँ ही होती हैं।

संदेश :

हमारा सब कुछ तो उनका दिया हुआ है अतः हम उनके बराबर तो, कुछ नहीं कर सकते।  यदि हम उनको  स्नेह और संम्मान दे सके तो अपने आप को हम धन्य समझेंगे ।  ‘Mothers day ‘ पर अपने माँ के साथ सेलिब्रेशन कर उनको गिफ्ट दे . आज  यह निर्णय ले  कि उनके साथ कुछ समय गुजारे। उनका आदर करे ,उनसे बात करे तो यही माँ  लिए सबसे बड़ी  ख़ुशी होगी ।

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX

अगर आपको Mothers day का लेख पसंद आया  तो कमेंट अवश्य करे ।आपका कमेंट मुझे अच्छे लेख लिखने को प्रेरित करते है ।


Leave a Reply

x
%d bloggers like this: