How to Increase Immunity Power In Hindi | अपनी इम्युनिटी पावर कैसे बढ़ाएं :


इम्युनिटी पावर
इम्युनिटी पावर

करोना या COVID -19 ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है। इससे मानवता के सामने महामारी का प्रकोप स्पष्ट दिखाई दे रहा है । इसकी अभी तक कोई उचित वैक्सीन या दवा भी उपलब्ध नहीं है। COVID-19 के लक्षण भी खांसी ,जुकाम , बुख़ार से प्रारंभ होते है आगे चलकर यह घातक और जानलेवा बन जाती है। डॉक्टर  और विशेषज्ञों के द्वारा यह पता चला है कि जागरूकता और शरीर की इम्युनिटी क्षमता  को बढ़ा  कर ही इससे बचा जा सकता है। इम्युनिटी क्षमता से तात्पर्य है कि हमारे शरीर मे बहुत से ऐसे रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले तत्व है जो हमे बैक्टीरिया, वायरस, फंगस आदि से रक्षा करते है ।


लेकिन जब इम्यून सिस्टम कमजोर पड़ जाता है । तो अनेक बीमारियों का खतरा बढ जाता है । कुछ लोगो कि इम्युनिटी क्षमता इतनी कम  होती है कि मौसम के बदलते ही उनको इफेक्शन हो जाता है। अतः हमें अपनी इम्युनिटी पॉवर बढ़ानी चाहिए । जिससे बीमारियो का खतरा कम से कम हो ।

इम्यून सिस्टम या रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर हो जाने के कई कारण हो सकते है , जैसे अनियमित खानपान,देर रात तक जागना ,अपने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही , मानसिक तनाव आदि । यदि अपनी दिनचर्या और खानपान में सुधार किया जाए तो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है । इससे शरीर इस काबिल बन जाता है कि शरीर के अंदर बैक्टीरिया, फंगस या वायरस के द्वारा होने वाली बीमारियों से  हमारी रक्षा होती है । आइये नेचुरल तरह से यानि बिना दवाई के इम्युनिटी पावर या रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़े इसको जाने :


इम्युनिटी क्षमता बढ़ाने के लिए पौष्टिक आहार लें :

अपनी डाइट का समय निर्धारित करे उसमे अनियमिताएं न हो।  भोजन में दाल , सब्जियां ,दही ,पनीर,मशरूम आदि ले । सलाद में चुकंदर, अदरक और लहसुन शामिल करे । प्रोटीनयुक्त और एन्टीआक्सीडेंट से भरपूर स्वच्छ और संतुलित आहार ले। अदरक और लहसुन में पर्याप्त मात्रा में एलिसिन ,सल्फर ,विटामिन ए और विटामिन इ पाया जाता है । इससे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

दही से पाचन शक्ति बढ़ती है। विटामिन सी नीबू और आंवला पर्याप्त  मात्रा में  ले। सुबह की धूप ले इससे विटामिन डी प्राप्त होता है। इसमे भी कई रोगो से लड़ने की क्षमता  होती है । ग्रीन टी और ब्लैक टी भी बैक्टीरिया को ख़त्म करते है। रात में हल्दी के साथ दूध ले। हल्दी में एंटीआक्सीडेंट के गुण होते है । फास्ट फ़ूड और जंग फ़ूड से पहरेज़  करे। पर्याप्त मात्रा में पानी ले  यदि आपकी आदत पानी पीने की नहीं है तो थोड़ा थोड़ा पानी कई बार पिए।

नियमित व्यायाम करें :

व्यायाम की कई पद्दतियो से शरीर की रोग- प्रतिरोग  क्षमता बढ़ती है।  दैनिक नियमित व्यायाम से शरीर की कोलेस्ट्रॉल अच्छा होता है।  हृदय की मांसपेशियां मजबूत होती है । वजन संतुलित होता है। इससे शरीर की हड्डियां मजबूत होती है।  व्यायाम  के साथ योग करने से संक्रमण का खतरा नहीं होता । अनुलोम-विलोम, कपाल -भारती जैसे प्राणयाम  करने  से आँख, नाक और पेट में बीमारियों का खतरा नहीं होता। इसे मानसिक दबाव कम होता है।  नींद अच्छी आती है।

इसे भी पढ़े:

सुबह जल्दी कैसे उठे : How To Wake Up Early In The Morning.

हल्दी के गुण   : Benefit of Turmeric For Health in Hindi :

गले मे दर्द को दूर कैसे करे :How To Get Rid of Throat sore Pain in Hindi

सफाई का ध्यान रखे : 

अपने आस पास गंदगी न होने दे। इससे भी वायरस और संक्रमण का प्रकोप फैलता है।  सब्जियों और बाहर से कोई भी समान आता है तो उनको अच्छी तरह गरम पानी और सोडे से धोकर रखे। अपने फेस पर  मास्क या कपड़ा लगाए । अपने घर की सफाई के लिए फिनायल और लिक्वीड  ब्लीच (सोडियम हाइक्लोरेट) का इस्तेमाल करे ।

कपड़े को गरमपानी में डिटर्जेंट मिलाकर धोये । इसके बाद पानी में खगालकर  डिटाल के पानी में डाले , उसके बाद सुखाये । बाहर जाने पर एक दूसरे से एक मीटर की दूरी पर रहे।  जिन्हें खाँसी और जुकाम हो उनसे दूर रहे।  एक दूसरे से खाना शेयर न करे। सार्वजनिक जगहो पर मेज कुर्सी लिफ्ट सीढ़ियों ग्रिल , खिडकियों ,दरवाजे को छूने  के बाद हाथ जरूर धोये। अपने घर को सेनटाइज करे थोड़ा सा पोटैशियम परमैगनेट और फार्मलिन पानी में डाल  कर पोछा लगाने से घर को सैनेटाइज किया जा सकता है। कूड़ा उठाते समय हाथो में ग्लब्ज का प्रयोग करे।

तनाव से दूर रहे :

तनाव से भी अपने प्रति व्यक्ति लापरवाह हो जाता है।  समस्याओं से घिरे  होने के कारण उसमे सोचने समझने की शक्ति क्षीण हो जाती है। ऐसे में समस्याओ को सोचने से ज्यादा उनके समाधान निकालने की कोशिश करना चाहिए। अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग तनाव में धूम्रपान या शराब का सेवन करने लगते है। इससे वे अपने शरीर को तो अस्वस्थ्य बनाते ही है ,अपने तनाव  को  भी और बढ़ा देते है। अपने आप को नकारात्मक लोगो से दूर रखे और सकारात्मक सोच वाले लोगो के साथ रहे। अच्छा संगीत सुने।  अपने काम के बोझ को कम  करने का प्रयास करे। अपने कार्य क्षमता से अधिक कार्य न करे। यदि तनावमुक्त रहेंगे तभी अपने आप को बेहतर बना पाएंगे और अपने स्वास्थ्य को ठीक रख पाएंगे ।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

नोट -आपको यह लेख पसंद आया तो कमेंट अवश्य करे। आपके कमेंट हमे अच्छे लेख लिखने की प्रेरणा देते है । 


3 thoughts on “How to Increase Immunity Power In Hindi | अपनी इम्युनिटी पावर कैसे बढ़ाएं :

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: